image

Mahatma Gautama Budhha

महात्मा गौतम बुद्ध

जन्म : लुंबिनी , नेपाल

मृत्यु : कुशीनगर

परिचय :  महात्मा बुद्ध संसार प्रसिद्ध बौद्ध धर्म के संस्थापक मने जाते है । बोध धर्म भारत की श्रमण परम्परा से निकला धर्म और दर्शन है । आज बौद्ध धर्म सारे संसार के चार बड़े धर्मो में से एक है । इसके अनुयायियों की संख्या दिन – प्रतिदिन आज भी बढ़ रही है ।

उनके महत्वपूर्ण विचारो में से एक यह है ,” आप जानते है कि कल मृत्यु निश्चित है , तो आज कुछ न कुछ नया जरूर
सीखिये ।”

image

गौतम बुद्ध के महान विचार :-

Great thoughts of Mahatma Gautam budhh :-

1. एक जलते हुए दीपक से हज़ारो दीपक रोशन किये जा सकते है , फिर भी उस दीपक की रौशनी कम नहीं होती है । उसी तरह खुशिया बाँटने से खुशिया बढ़ती है , कम नहीं होती ।

2. तुम्हे अपने क्रोध के लिए सजा नही मिलती , बल्कि तुम्हे अपने क्रोध
से ही सजा मिलती है ।

3. हज़ारो लड़ाईया जीतने से अच्छा यह है कि तुम स्वयं पर विजय प्राप्त कार लो । फिर जीत हमेशा तुम्हारी है ।
इसे तुमसे कोई नही छीन सकता , न स्वर्गदूत न राक्षस ।

4. घृणा (बुराई) से घृणा (बुराई) कभी खत्म नही हो सकती । घृणा को केवल प्रेम दवारा ही समाप्त किया जा सकता है । यह एक प्राकृतिक सत्य है ।

5. सत्य के मार्ग पर चलते हुए व्यक्ति केवल दो ही गलतियां कर सकता है – या तो पूरा रास्ता न तय करना या फिर शुरुआत ही न करना ।

image

6. भूतकाल में मत उलझो , भविष्य के सपनों में मत खो जाओ । वर्तमान पर ध्यान दो । यही खुश रहने का रास्ता है ।

7. तीन चीजें कभी छुपी नही रह सकती- सूर्य . चन्द्रमा और सत्य ।

8. क्रोधित रहना , जलते हुए कोयले को किसी दूसरे व्यक्ति पर फेंकने की इच्छा से पकड़े रहने के समान है ।

9. मंजिल या लक्ष्य तक पहुचने से ज्यादा महत्वपूर्ण यात्रा अच्छे से करना होता ।

10. हज़ारो शब्दों से ज्यादा अच्छा वह एक शब्द है जो शांति लाता है ।

11. सन्देह या शक की आदत से भयानक कुछ भी नही । सन्देह लोगों को अलग करता है और मित्रता तोड़ता है ।

12. खुशियो का कोई रस्ता नही , खुश रहना ही रास्ता है ।

image

13. आप चाहे जितनी भी किताबे पद ले , कितने भी अच्छे शब्द सुन ले उनका कोई फायदा नही है जब तक कि आप उनको अपने जीवन में नही अपनाते ।

14. अगर आप वाकई मे अपने आप से प्रेम करते है तो आप कभी भी किसी दूसरे को दुःख नही पंहुचा सकते है ।

15. सभी गलत कार्य मन से ही उपजते है । अगर मन परिवर्तित हो जाये तो क्या गलत कार्य रह सकता है ।

16. मैं हमेशा देखता हूँ कि क्या किया जाना बाकी है । मैं कभी नही देखता कि क्या किया जा चूका है ।

image

17.  स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है , सन्तोष सबसे बड़ा धन और वफादारी सबसे बड़ा सम्बन्ध ।

18. मनुष्य का दिमाग ही सब कुछ है , जो वह सोचता है वही वह बनता है ।

19 . जब मन पवित्र होता है तो ख़ुशी परछाई की तरह हमारे साथ चलती है ।

Advertisements